धर्मशाला, सुलह में शीघ्र आरंभ होगा फॉर्मेसी कॉलेज: परमार
November 23, 2019 • Yogesh Sharma

सुलह, ननाओं और ठंबा के पेयजल पर व्यय होंगे 560 लाख
धर्मशाला। 23 नवम्बर: (विजयेन्दर शर्मा) । स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विपिन सिंह परमार ने शनिवार को पीएचसी से स्तरोंन्नत सीएचसी सुलह और नवनिर्मित सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य उपमण्डल सुलह का शुभारंभ किया।


सुलह में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सुलह हलके का बेहद समृद्ध इतिहास है और इन्हीं उच्च परंपराओं को ध्यान में रखते हुए इसके महत्व को ओर अधिक बढ़ाने के लिए यहां बड़े सरकारी संस्थान स्थापित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने ने कहा कि वर्तमान सरकार लोगों की उम्मीदों तथा भावनाओं के अनुरूप कार्य काने वाली सरकार है और प्रदेश का विकास इसी बात को ध्यान में रखकर आगे बढ़ाया जा रहा है।


उन्होंने लोगों को सीएचसी और आईपीएच के सब-डीविजन कार्यालय के स्थापना की बधाई देते हुए कहा कि अस्पताल के स्तरोंन्नत होने इस क्षेत्र की दर्जनों पंचायतों के लोगों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि आईपीएच की सब-डीविजन बनने से इस क्षेत्र की 24 पंचायतों और तीन जेई सेक्शनों को इससे जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि किसानों की सुविधा और उनकी मांग को पूरा करने के लिए इस क्षेत्र की सभी कूहलों के संचालन इत्यादि को आईपीएच डिवीजन पालमपुर से थुरल के अंतर्गत लाया जायेगा।


उन्होंने कहा कि सरकार ने सुलह को सब-तहसील का दर्जा दिया है और इसका विधिवत कार्य भी शीघ्र आरंभ कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि सब-तहसील बनने से इस क्षेत्र के 11 पटवार सर्कलों के लोगों के राजस्व संबंधी कार्य यहां हो सकेंगे। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही सुलह में फॉर्मेसी कॉलेज भी आरंभ कर दिया जायेगा।


स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह प्रदेश के लिए गौरव की बात है कि हिमाचल प्रदेश को स्वास्थ्य और शिक्षा क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के लिए स्टेट ऑफ द स्टेट्स आवार्ड सर्वेक्षण में देश के बड़े राज्यों में श्रेणी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए पुरस्कार प्रदान किया गया है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों से लोगों के दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी जरूरतमंद तक पंहुचाने का आहवान किया।


उन्होंने कहा कि सुलह हलके के किसी भी क्षेत्र में पेयजल की कमी को नहीं रहने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि सुलह, ननाओं और ठम्बा गांवों के नई पेयजल योजना स्वीकृत की गई है, जिसपर 5 करोड़ 60 लाख रुपये व्यय किये जा रहे हैं और इसमें चार नलकूपों के माध्यम से स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाया जायेगा। उन्होंने सुलह अस्पताल में डिजीटल एक्सरे सुविधा आरंभ करने की घोषणा की।


स्वास्थ्य मंत्री ने इस अवसर पर बहुउदेशीय स्वास्थ्य जांच शिविर का भी शुभारंभ किया।     
इससे पूर्व मुख्य चिकित्सा अधिकारी कांगड़ा, डॉ गुरदर्शन गुप्ता ने मुख्यतिथि का स्वागत किया और स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।


कार्यक्रम में सुलह के मंडलाध्यक्ष देशराज शर्मा, प्रदेश स्वास्थ्य सलाहकार समिति के सदस्य तनु भारती, बीडीसी की उपाध्यक्ष पूजा धीमान, स्थानीय पंचायत की प्रधान आशा धीमान, दीपक नाग, सुरेश वालिया, मदन ठाकुर, प्रवीन शर्मा, देवेंद्र राणा, आंचल राणा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 विक्रम कटोच, डॉ0 विनय महाजन, डॉ0 मीनाक्षी गुप्ता, अधिक्षण अभियंता

आईपीएच सुरेश महाजन, अधिशासी अभियंता अनिल पूरी, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण मुनीष सहगल, अधिशासी अभियंता विद्युत प्रीतम कपूर, तहसीलदार पालमपुर वेद प्रकाश, सीडीपीओ विजय शर्मा, आरएम पालमपुर सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी और क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।