हॉस्टल में चोरी करने वाला लड़का था या लड़की! (17पीआर36ओआई)
September 17, 2019 • Yogesh Sharma

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में जब डीयू की सुरक्षा चाक-चौबंद थी,

उसी दौरान गर्ल्स हॉस्टल में कथित तौर पर लड़कियों के कपड़ों में एक लड़का घुस गया और लड़कियों का सामान चुरा लिया। 5 दिन बाद भी पुलिस चोर को पकड़ना तो दूर, यह पता नहीं लगा पाई कि चोर लड़की बनकर घुसा लड़का था या वास्तव में कोई लड़की ही थी। पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी में वह बिल्कुल लड़की जैसा लग रहा है रही है।

घटना के 5 दिन बाद पुलिस यही कह रही है कि जब तक उसको पकड़ नहीं लेंगे, कुछ नहीं कहेंगे। पुलिस के मुताबिक, 12 सितंबर को डूसू में चुनाव के दिन एक हॉस्टल में लड़कियों के कमरे से सामान चोरी हुआ। श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स के हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों ने चोरी करने वाले को नहीं देखा, लेकिन सीसीटीवी फुटेज देखकर लड़कियों का कहना था कि वह लड़का था और लड़कियों के कपड़ों में अंदर घुसा था। 


दिल्ली पुलिस का कहना है कि सिर्फ फुटेज के आधार पर उसको लड़का नहीं मान सकते क्योंकि फुटेज में वह बिल्कुल लड़कियों जैसा लग रहा है। बड़े बड़े बाल और कपड़ों में जितना दिख रहा है कोई उसे लड़का किस आधार पर कह सकता है। पुलिस को कुछ सुराग मिले हैं। शिकायत में कहा गया है कि चोर ने एटीएम कार्ड चुराकर करीब 50 हजार का ट्रांजेक्शन किया। और तीन हजार कैश चुरा लिया।

चोरी के बाद एक दुकान से कुछ सामान खरीदा और एटीएम कार्ड से पेमेंट की। ऐसे में पुलिस उस दुकान की फुटेज देखकर उस तक पहुंचने की कोशिश में है। मौरिस नगर पुलिस को 12 सितंबर की दोपहर 1 से 2 के बीच हॉस्टल में चोरी होने की शिकायत मिली थी। इसमें बताया गया था कि कुछ लड़कियां हॉस्टल की मेस में थीं और बाकी छात्रसंघ चुनाव के कारण बाहर। इसी समय 1:40 बजे चोर हॉस्टल में दाखिल हुआ।