सदवां में वन विश्राम गृह के निर्माण पर खर्च होंगे पच्चीस लाख: विक्रम ठाकुर
July 22, 2019 • Yogesh Sharma

- कहा.... वनों को रोजगार और आजीविका का साधन बनाने का किया जा रहा प्रयास
शिमला। उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा है कि जसवां-परागपुर विधानसभा क्षेत्र के सदवां में 25 लाख रुपये की लागत से वन विश्राम गृह का पुनर्निर्माण किया जाएगा।


बिक्रम ठाकुर आज सोमवार को सदवां में 70 वें वन महोत्सव के कार्यक्रम में शिरकत करने के उपरांत जनसभा को संबोधित करते हुए बोल रहे थे। 
ठाकुर ने कहा कि वनों को रोजगार और आजीविका का साधन बनाने का प्रयास किया जा रहा है। सरकार ने इस उद्देश्य से अनेक योजनाएं आरंभ की हैं। प्रदेश में वन समृद्धि जन समृद्धि योजना शुरू की गई है, इसके जरिये लोगों को जड़ी बूटी इकट्ठा करने, प्रसंस्करण और विपणन के प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर पौधारोपण को भी एक अभियान के तौर पर पूरे प्रदेश के अंदर आरंभ किया जाना समय की मांग है। उन्होंने कहा कि पौधारोपण करने का असली उद्देश्य तभी पूरा हो सकता है, जब पौधारोपण करने के उपरांत समय-समय पर पौधों की देख-रेख सुनिश्चित हो।

 
उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पौधरोपण एवं उनके संरक्षण में समुदाय की भागीदारी तय बनाने के लिए प्रदेश में सामुदायिक वन संवर्धन योजना आरंभ की है। इस योजना के तहत युवक व महिला मंडलों को पौधरोपण के लिए भूखंड आवंटित किए जाएंगे। इसी प्रकार स्कूली बच्चों को वन संरक्षण के अभियान से जोड़ने के लिए विद्यार्थी वन मित्र योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत विद्यार्थियों को वनों के महत्व और पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक बनाना और उन्हें अधिक से अधिक पौधे लगाने के प्रति प्रेरित करना है।

योजना के तहत स्कूलों को भी भूखंड आवंटित किए जाएंगे। आवंटित भूखंड में स्कूली बच्चे पौधारोपण कर साल भर उनकी देखभाल भी करेंगे। उन्होंने वन विभाग को सदवां में पौधारोपण के लिए अलग अलग स्थान चिन्हित करने के निर्देश दिये। उन्होंने सदवां में सड़क निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी महकमे को त्वरित रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए। 


इससे पूर्व विक्रम ठाकुर ने सूहीं गांव में लोगों की समस्याओं को सुना। उन्होंने अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही समाधान कर दिया तथा शेष समस्याओं के समाधान के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये। 
उन्होंने ग्राम वासियों की मांग पर अलग अलग रास्तों के निर्माण हेतु साढे तीन लाख रुपये तथा मूहीं पंचायत के अंदर 15 सोलर लाइटें स्थापित करने की घोषणा की।  


इस अवसर पर वन विभाग हमीरपुर के अरण्यपाल अनिल जोशी, डीएफओ देहरा आरके डोगरा, मंडल अध्यक्ष विनोद शर्मा, स्थानीय पंचायत प्रधान सुरजीत धीमान, जिला महामंत्री रुपिंदर सिंह डैनी तथा पूर्व प्रधान स्नेह लता परमार सहित गणमान्य लोग मौजूद थे।