भारतीय जीवन बीमा निगम को चालू तिमाही में 57 हजार करोड़ का नुकसान
September 17, 2019 • Yogesh Sharma

मुंबई। शेयर बाजार में शीर्ष शेयरों की बिकवाली के कारण शेयर बाजार में भारतीय जीवन बीमा निगम को चालू तिमाही में      57000 करोड़ का नुकसान हुआ है।


उल्लेखनीय है भारतीय जीवन बीमा निगम 5 लाख करोड़ रुपए शेयर बाजार में निवेश करने वाली कंपनी है। शेयर बाजार की लगातार गिरावट ने शेयर बाजार को बहुत बड़ा नुकसान पहुंचाया है। शेयर बाजार की यदि यही मंदी की रफ्तार आगे भी बनी रहे तो भारतीय जीवन बीमा निगम के करोड़ों बीमा पालिसी होल्डर के भुगतान में बाधा उत्पन्न हो सकती है।
विधि विशेषज्ञों के अनुसार 336 शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियों मैं भारतीय जीवन बीमा निगम की हिस्सेदारी है।

इसमें आईटीसी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ओएनजीसी एलएंडटी कोल इंडिया एनटीपीसी इंडियन ऑयल आरआईएल आईसीआई सीआई बैंक तथा एमएंडएम जैसी कंपनियों में भारतीय जीवन बीमा के निवेश पर भारी नुकसान चालू तिमाही में उठाना पड़ा है।
केंद्रीय बजट में अधिभार की घोषणा होने के बाद से विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 31870 करोड रुपए के शेयरों की बिकवाली की है।

जिसके कारण भारतीय शेयर बाजार की हालत और बिगड़ गए हैं। उल्लेखनीय है भारतीय जीवन बीमा निगम शीर्ष कंपनियों में दीर्घकालीन निवेश करती है। जिसके कारण उसे सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। इससे भारतीय जीवन बीमा निगम के पॉलिसी होल्डर का भविष्य खतरे में दिखने लगा है। भारतीय जीवन बीमा निगम अपने पॉलिसी होल्डर को समय पर भुगतान कर पाएगी या नहीं यदि ऐसी स्थिति बनी रही तो इसको लेकर भारतीय जीवन बीमा निगम में चिंता देखी जा रही है।